“पुरस्कार का हकदार”

 “पुरस्कार का हकदार”

राकेश कुमार सिंह, वन्य जीव विशेषज्ञ, कवि, स्तंभकार

“मंत्री जी द्वारा केवल चार लोगों को ही पुरस्कृत किया जाना है। इसलिए इन पांच में से एक नाम हटा दो।”
“लेकिन साब किसका नाम हटाएं आप ही बता दें। ये पहला वाला आपके मिलने वाले नेताजी का बेटा है, ये दूसरी वाली आपके बॉस की पत्नी हैं, ये तीसरे वाले मंडल स्तर के अधिकारी हैं और ये चौथे वाले आपके ही खास हैं।”
“मगर आपने इस पांचवे वाले के बारे में नहीं बताया।”
“साब वर्षों से रुके जिस असंभव से काम को पूरा करने के लिए ये अवार्ड दिया जा रहा है वह असल में तो सिर्फ इसी व्यक्ति ने किया है।”
“ओके, बस इसी पांचवे वाले से कह देना कि सभी आपकी मेहनत और ईमानदारी की बड़ी तारीफ कर रहे थे और आपको कौन नहीं जानता, मेहनत और ईमानदारी किसी पुरस्कार की मोहताज नहीं होती। अगली बार आपको और बड़े स्तर पर सम्मानित करवाने की कोशिश की जाएगी।”
“समझ गया साब, अभी चार लोगों के नाम की लिस्ट दुबारा बना कर लाता हूं।”

Related post