Parivartan Student Career Guidance Program

This Career guidance is organised on alternate Saturdays ,where we call experts to guide the students ..The program is broadcasted live on facebook and you tube simultaneously..The program is aimed to help students from rural and semi urban areas where right information does not reach .. .Now ,it has been decided to expand it further […]Read More

दक्षिण पूर्व एशिया की संस्कृति में रामायण की भूमिका

अनिता चंद (यह लेखक के अपने विचार हैं )इतिहास का संक्षिप्त विवरणउत्तर भारत में नवरात्रि दशहरे के समय रामलीला का बड़ा महत्व है, सभी जगहों पर रामलीलाऐं प्रस्तुत की जाती हैं। हम सभी राम-लीलाओं से अच्छी तरह अवगत हैं।रामलीलाएँ “रामायण” ग्रंथ पर आधारित है।आपको जानकर ख़ुशी होगी ! कि रामायण ग्रंथ हमारे देश का ही […]Read More

कौशल किशोर की कविताएँ

कवि, समीक्षक, संस्कृतिकर्मी व पत्रकारजन्म: सुरेमनपुर (बलिया, उत्तर प्रदेश), 01 जनवरी 1954, स्कूल के प्रमाण पत्र में।एफ – 3144, राजाजीपुरम, लखनऊ – 226017मो – 8400208031मेकेनिकल इंजीनियर। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी से मार्केटिंग प्रबंधक के पद से सेवानिवृत्त । ‘युवालेखन’ (1972 से 74) ‘परिपत्र’ (1975 से 78) तथा ‘जन संस्कृति’ (1983 से 90) का संपादन। दैनिक […]Read More

पिजिन भाषाएँ (Pidgin Languages)

डॉ राजेन्द्र प्रसाद सिंह, अंतर्राष्ट्रीय भाषा वैज्ञानिक पिजिन भाषाओं का विकास ऐसे दो या दो से अधिक समुदायों के बीच में होता है, जिनकी भाषाएँ एक – दूसरे के लिए अबूझ होती हैं, किंतु आपसी संवाद कायम करना जरूरी हो जाता है। ऐसा व्यापार, शासन, धर्म प्रचार या अन्य किसी कारण से होता है। बतौर […]Read More

दशहरा :सत्य /असत्य का संघर्ष या कुछ और ?

तेज प्रताप नारायण दशहरा की आप सभी को बधाई और शुभकामनाएं । सत्य की असत्य पर विजय होती रहनी चाहिए ।सत्ता और समाज मे फैल रहा असत्य का अँधेरा मिटना ही चाहिए । पर सत्ता के नशे में लोग अंधे हुए जा रहे हैं सच को मिटा रहे हैं और झूठ की फसल उगा रहे […]Read More

विजय ज़ख़्मी की कविताएँ

विजय ‘ज़ख़्मी’ अमृतसरशिक्षा: प्राचीन कला केंद्र यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से संगीत में स्नातक की डिग्रीविजय ज़ख्मी पिछ्ले कई वर्षों से हिंदी और उर्दू की 500 से अधिक कविताएँ, ग़ज़लें और नज़्में कलमबध कर चुके हैं ! उनको दैनिक भास्कर के शब्द भास्कर प्रोग्राम , साहित्य कलश के ऑनलाइन काव्य गोष्टी तथा अन्य कई कार्यक्रमों में सन्मानित […]Read More

भैंसासुर:गाँव, नगर,मुहल्ला और चौक

डॉ राजेन्द्र प्रसाद सिंह प्रोफेसर, लेखक,आलोचक और प्रसिद्द भाषा वैज्ञानिक भारत में भैंसासुर के नाम पर कई गाँव बसे हैं और कई चौक – चौराहे तथा मोहल्ले भी हैं। ■ झारखंड के पलामू जिले के मनातु प्रखंड के अंतर्गत पदमा पंचायत में ” भैंसासुर गाँव” है।■उत्तरप्रदेश के पीलीभीत जिले के अंतर्गत पूरनपुर विधान सभा क्षेत्र […]Read More

नेता जी

शाक्य बीरू एंटीवायरसजिला- गाजीपुरउ० प्र०Mob 8900965632 चुनाव की रणभेरी बजने में तो अभी दो साल का वक्त था। क्षेत्र के नेता जी जनता के दु:ख-दर्द में हमेशा साथ होते थे। चाहे राज्य में उनकी अपनी पार्टी की सरकार हो या न हो , अपने छुटभैयों के मदद से वह लगातार चुनाव जीतने का रिकार्ड भी […]Read More

अनिल अविश्रांत की कविताएँ

गृह जनपद–बाराबंकीशिक्षा-बी.एड, यू जी सी-नेट, पीएच.डीडॉ अनिल कुमार सिंह अनिल अविश्रांत नाम से रचनात्मक लेखन करते हैं.उन्होंने ’20वीं शताब्दी के हिन्दी उपन्यासों में किसान संघर्ष’ विषय पर पीएच.डी. की है. एक काव्य संग्रह ‘चुप्पी के खिलाफ़’ प्रकाशित है। शिक्षा, साहित्य और सिनेमा विषय में उनकी गहरी अभिरुचि है. उनके कई लेख प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित […]Read More

सुरेखा साहू की कविताएँ

सुरेखा साहूशिक्षा- बी.टेक (इलेक्ट्रिकल) ऍम टेकआप भारतीय रेलवे में कार्यरत हैं | इन्होंने, दो तीन सालों से ही कविताओं द्वारा अपनी भावनाओं को व्यक्त करना शुरू किया है | इनके हिसाब से, आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में एक दूसरे से बात करने का समय ही नहीं मिल पाता है और कई अनकही बातें मन […]Read More