अनुपमा सरकार की कविताएँ

अनुपमा सरकार शैक्षणिक योग्यता : बैचलर ऑफ़ एप्लाइड साइंस, एम्.ए (अंग्रेजी) वेबसाइट: https://scribblesofsoul.com/ यूट्यूब चैनल : मेरे शब्द मेरे साथ  https://www.youtube.com/MereShabdMereSaath/ प्रकाशित किताबें: फ़ुर्सत के पल,  Don’t Hate The Don’ts     साझा संग्रह प्रकाशित      :  स्पंदन Resonance,  लहर लहर इकतारा, Colours of Refuge,  सरगम Tuned,  मशाल,  परदे के पीछे की बेखौफ आवाज़ें, शब्दों की अदालत, शब्दों […]Read More

नीलम सक्सेना चंद्रा की कविताएँ

नीलम सक्सेना चंद्रा लेखन में जाना माना नाम है | कविताएँ एवं कहानियाँ लिखना आपका शौक है| आपके चार उपन्यास, एक उपन्यासिका, छह कहानी संग्रह, बत्तीस काव्य संग्रह व तेरह बच्चों की पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं| आपको विभिन्न पुरस्कारों से सुशोभित किया गया है, जैसे अमेरिकन एम्बेसी द्वारा आयोजित काव्य प्रतियोगिता में गुलज़ार जी […]Read More

माँ का पल्लू

डॉ राकेश कुमार सिंह ,वन्य जीव विशेषज्ञ,कवि एवं स्तम्भकार जब बहता है आंखों से पानी, याद अब भी आता है माँ का पल्लू।१। जब लुढ़कते थे गालों पर आंसू, रूमाल बन जाता था माँ का पल्लू।२। लगती थी जब मुंह पर जूठन, मुंह पर चल जाता था माँ का पल्लू।३। सोते थे जब मां की […]Read More

मैं उस घर में दिया जलाने निकला हूँ ,जहाँ सदियों

कौशल किशोर,सीनियर ब्यूरोक्रेट,भारत सरकार प्रसिद्ध लेखक एवं स्तम्भकार मैं उस घर में दिया जलाने निकला हूँ जहाँ सदियों से अँधेरा है !This was his clarion call as Social justice Minister in the Govt headed by the Prime Minister VP SINGH , in the month of August 1990 when he spearheaded the implementation of Mandal reservation […]Read More

धरती से बहुत दूर एक धरती

अशोक वर्मा ,भारतीय पुलिस सेवा कवि और लेखक पिछले साल इन्हीं दिनों अख़बारों में अत्यन्त हर्षानेवाली एक ख़बर छपी थी। ख़बर थी कि वैज्ञानिकों ने ब्रह्माण्ड में एक ऐसा ग्रह खोज लिया है, जिसमें जीवन की संभावनाएँ हैं। इसका नाम के2- 18बी है। अब तक खोजे गए लगभग 4000 ग्रहों में यह ग्रह मानव-जीवन के […]Read More

प्रेम चंद की पुण्यतिथि पर उनको समर्पित एक कविता

तेज प्रताप नारायण इस देश का किसानशोषण की चक्की मेंपिसता है ,जैसे पिसान अधिक दाम पर खरीदताखाद , बीज ,यंत्रऔर कम दामों पर बेचता हैहर समानचाहे हो फल ,सब्जीया हो गेंहू और धान सहता है हमेशा चिलचिलाती सर्दीऔर तेज़ घामहै कोल्हू के बैल जैसाकभी नहीं मिलता आराम । कभी लेखपाल दंश मारताकभी थाने का पुलिस […]Read More

भावना सिंह ‘भावनार्जुन ‘ की कविताएँ

भावना सिंह “भावनार्जुन”लेखिका व साहित्यकार ।।एम.एस.डब्ल्यु. लखनऊ विश्वविद्यिलय .लखनऊ ।। “खुद की स्याही से ” काव्य संग्रह’“स्वयं प्रवाह ” काव्य संग्रहरवीना प्रकाशन द्वारा प्रकाशित हो चुके हैं ।इसके अतिरिक्त विभिन्न पत्र पत्रिकाओं व समाचार पत्र मे एक स्वतन्त्र लेखक के रूप मे हमारे लेख व कवितायें प्रकाशित होती रहती हैं ….।। “गन्दगी के कितने पनाले […]Read More

मोरिंगा(सहजन)एक अद्भुत औषधीय पौधा

प्रियंका एम.के. ,माइक्रो बायोलोजिस्ट रिसर्च स्कालर , Priyanka.2475@rediffmail.com नेचर औषधीय गुणों की खान है. इसी में एक पौधा है मोरिंगा, जिसे सहजन भी कहते हैं. मोरिंगा एक प्रकार का सुपर फूड है. इसको जादुई पेड़ भी कहा जाता है. यह शरीर की एक नहीं बल्कि अनेक बीमारियों का निदान करता है. यह एक बहु उपयोगी […]Read More

कहानी संग्रह “एयर पोर्ट पर एक रात ” की समीक्षा

समीक्षक : अशोक वर्मा भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी हैं और वरिष्ठ कवि एवं लेखक हैं। तेज प्रताप नारायण का कहानी-संग्रह “एयरपोर्ट पर एक रात” पढ़ा। यह संग्रह जीवन का दस्तावेज़ है। इसमें स्त्री है, पुरुष है और थर्ड जेण्डर भी है; बचपन है, जवानी है, वृद्धावस्था भी है; गाँव है, नगर भी है; जीवनमूल्यों […]Read More

अरविंद यादव की कविताएँ

परिचय: जन्मतिथि- 25/06/1981शिक्षा- एम.ए. (हिन्दी), नेट , पीएच-डी.प्रकाशन – समाधान खण्डकाव्यवागर्थ,पाखी, समहुत, कथाक्रम, छत्तीसगढ़ मित्र,अक्षरा, विभोम स्वर ,सोचविचार, बहुमत, पुरवाई, सेतु ,स्रवंति,समकालीन अभिव्यक्ति, किस्सा कोताह, तीसरा पक्ष, ककसाड़, प्राची, दलित साहित्य वार्षिकी, डिप्रेस्ड एक्सप्रेस, विचार वीथी, लोकतंत्र का दर्द, शब्द सरिता,निभा, मानस चेतना, अभिव्यक्ति, ग्रेस इंडिया टाइम्स, विजय दर्पण टाइम्स आदि पत्र- पत्रिकाओं में रचनाएं […]Read More