Tags : #Poem

मैं लिखूंगी एक कविता

सीमा पटेल,दिल्ली आज कुछ तसल्ली से बैठी थीसोचा,,,नींद पूरी है, मन उत्साहित है,सर भी हल्का है, कोई हड़बड़ी नहींतो लिख दूँ एक अच्छी कविता तुम्हारी भी आज छुट्टी हैघड़ी की चाल से भी आज खुट्टी हैवर्ना, रसोईघर में टंगी घड़ीरोज ठक-ठक सर में हथौड़ेबजाया करती है।बोलती भी है कि जल्दी करोदेर हो रही है ऑफिस […]Read More