साहित्यिक परिवर्तन का सफ़र जारी रहे

 साहित्यिक परिवर्तन का सफ़र जारी रहे

Rajiv Chaudhary

आज जब हमारे रुबरु होने, एक दूसरे तक पहुंचने के रास्ते बाधित हैं, ऐसे में परिवर्तन मंच का साहित्यिक सफ़र अबाध रुप से चलाने के लिए तेज प्रताप जी ने Social Distancing के काल में Social Networking के ज़रिए नई राहें हमवार की हैं। ये नया सफ़र अत्यंत सुखद है क्योंकि इस पर हम नित नए लोगों, उनकी रचनाओं से मुख़ातिब हो रहे हैं जिससे हमारे दायरे और दृष्टि दोनों को विस्तार मिल रहा है। तेज प्रताप जी का यह प्रयास अत्यंत सराहनीय है। वो बधाई के पात्र हैं और हम उनके बहुत शुक्रगुज़ार हैं। समस्त सदस्यों को शुभकामनाएं।

Related post