12 वीं साइंस के बाद कैरियर संबंधी जानकारी

 12 वीं साइंस के बाद कैरियर संबंधी जानकारी

आशीष कुमार उमराव,

ऐकडेमिक और कैरियर मेंटर

साइंस से 12वीं करने वाले विद्यार्थियों का वर्ग विषयों के आधार पर अलग-अलग होता है। इनमें PCM, PCB और PCMB शामिल हैं। हम यहां आपको एक-एक वर्ग के कोर्स के बारे में जानकारी दे रहे हैं। सबसे पहले बात करते हैं PCB, यानी फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी विषय की पढ़ाई करने वाले छात्र क्या कर सकते हैं?

MBBS – पीसीबी से 12वीं की पढ़ाई करने वाले ज्यादातर स्टूडेंट्स का सपना होता है डाक्टर बनने का। या यूं कहें कि शायद बचपन से ही ज्यादातर बच्चे डॉक्टर बनने का ही सपना देखते हैं। एमबीबीएस का फुल फॉर्म है- बैचलर ऑफ मेडिसिन ऐंड बैचलर ऑफ सर्जरी। यह अंडरग्रेजुएट कोर्स होता है। यह तो पता ही होगा कि इस पढ़ाई को करने के बाद आप डॉक्टर बन जाएंगे। मेडिकल परीक्षाओं के लिए NEET की तैयारी करनी होती है जो बिलकुल भी सरल नहीं हैं। सही रणनीति व मार्गदर्शन से आप इसे पास करने की सोच सकते हैं।

BAMS– इसका मतलब है- बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन ऐंड सर्जरी। इसमें आयुर्वेद के इस्तेमाल से इलाज करने की पढ़ाई होती है। बीएएमएस में आयुर्वेद के साथ मॉडर्न मेडिसिन के कॉन्सेप्ट की भी शिक्षा मिलती है।

BHMS- बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन ऐंड सर्जरी भी अंडरग्रेजुएट कोर्स है। इसमें आपको होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे में पढ़ाया जाएगा।

BUMS– बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन ऐंड सर्जरी में आपको यूनानी मेडिसिन सिस्टम की शिक्षा दी जाएगी। यह दुनिया की सबसे पुराने मेडिसिन सिस्टम में से एक है।

BDS– यह अंडरग्रेजुएट डेंटिस्ट कोर्स होता है। इसमें दांत और मुंह से जुड़ी बीमारियों के इलाज की पढ़ाई होती है।

नर्सिंग– 12वीं के बाद आप नर्सिंग का कोर्स भी कर सकते हैं। इसको करने के बाद आपको एक अच्छे कॅरियर के साथ-साथ मरीजों का ख्याल रखने का भी मौका मिलता है।

डेयरी टेक्नॉलजी– यह कोर्स करके भी अपना करियर शानदार बना सकते हैं। इसमें आपको मिल्क प्रॉडक्शन, प्रॉसेसिंग, पैकेजिंग, स्टोरेज और डिस्ट्रिब्यूशन की जानकारी दी जाती है। डेयरी प्रॉडक्शन के क्षेत्र में भारत अहम देश है और यहां दूध की खपत को देखते हुए इस क्षेत्र में ट्रेंड प्रोफेशनल्स की डिमांड भी काफी बढ़ने लगी है।

रेडियोग्राफी- इस कोर्स को करके भी भविष्य संवार सकते हैं। रेडियोग्राफी एक मेडिकल सब फील्ड है। इसमें स्टूडेंट्स को एक्स-रे आदि के इस्तेमाल की शिक्षा दी जाती है।

न्यूट्रिशियन और डाइटीशियन– अब लोग अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने लगे हैं, जिसकी वजह से एक प्रॉपर डाइट चार्ट फॉलो करते हैं। इसके लिए डाइटीशियन या न्यूट्रिशियन की मदद ली जाती है। यह कोर्स करके भी आप अपना भविष्य संवार सकते हैं। इसमें फूड मैनेजमेंट से जुड़ी पढ़ाई होती है।

ये कोर्स भी विकल्प
इन कोर्स के अलावा आप स्पीच ऐंड लैंग्वेज थेरेपी, रिहैबिलिटेशन थेरेपी, मेडिकल टेक्नोलॉजी, ऑडियोलॉजी में बीएससी, बीएससी एग्रीकल्चर, बायोटेक्नोलॉजी, बैचलर ऑफर नेचुरोपैथी ऐंड योगा साइंस, बी-फार्मा और पैरामेडिकल जैसे कोर्स भी कर सकते हैं।

PCM (फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स) से 12वीं की पढ़ाई के बाद क्या कर सकते हैं?
B.Tech– पीसीएम से 12वीं पास करने के बाद आपके पास सबसे प्रमुख कोर्स इंजीनियरिंग का है। इंजीनियरिंग के कई ब्रांच हैं, जिनमें एयरोनॉटिकल, एयरोस्पेस, ऑटोमोबाइल, बायोमेडिकल, सिविल, माइन, केमिकल, कम्यूनिकेशन्स, कम्प्यूटर साइंस, कंस्ट्रक्शन, इलेक्ट्रिकल, रोबोटिक्स और टेक्सटाइल इंजीनियरिंग समेत अन्य शामिल हैं। IIT JEE के साथ आप UPSEE की भी तैयारी से अपना Btech का सपना पूरा कर सकते हैं।

BA LLB / CLAT – यदि आपको मेडिकल या इंजीनियरिंग में किसी कारण से सफलता न मिली हो तो आपको निराश होने की जरुरत नहीं है । आपके पास लॉ के रूप मैं एक अच्छा विकल्प है। 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप यह कोर्स कर सकते हैं। यह 5 साल का कोर्स है। इसे कम्प्लीट करने के बाद आपको बैचलर ऑफ आर्ट्स और बैचलर ऑफ लॉ की डिग्री मिलती है। इस कोर्स के बाद आप वकालत में कॅरियर बना सकते हैं। किसी फर्म में बतौर सलाहकार जुड़ सकते हैं। साथ ही इस कोर्स के बाद पीसीएसजे परीक्षा के लिए भी दरवाजे खुल सकते हैं, जो आपकी पढ़ाई और तैयारी पर निर्भर करता है। CLAT की परीक्षा पास करके आप देश के सर्वोत्तम लॉ यूनिवर्सिटीज व कॉलेजेस में दाखिला पा सकते हैं.

B. Arch- बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर भी आपको एक सुनहरा भविष्य देगा। इस कोर्स में किसी इमारत की प्लानिंग, डिजाइन और कंस्ट्रक्शन समेत इससे जुड़े सभी पहलुओं की पढ़ाई होती है।

PCMB से 12वीं के बाद कर सकते हैं ये कोर्स
PCMB से पढ़ने वाले छात्रों के पास सबसे ज्यादा कोर्स के विकल्प होते हैं। ऐसे स्टूडेंट्स PCM और PCB, दोनों के कोर्स कर सकते हैं।

बीएससी- बॉटनी, फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी, नर्सिंग, डेयरी टेक्नॉलजी, एग्रीकल्चर और बायोटेक्नॉलजी आदि में बीएससी कर सकते हैं।

माइक्रोबायोलॉजी– माइक्रोबायोलॉजी की पढ़ाई करके भी कॅरियर को बेहतर बना सकते हैं। इसमें आपको माइक्रोस्कोपिक ऑर्गन के फंक्शन, स्ट्रक्चर और यूज आदि के विषय में पढ़ाया जाएगा।

बायोमेडिकल साइंस– इसमें आपको इंसान के शरीर में सेल्स, ऑर्गन और सिस्टम फंक्शन आदि की शिक्षा दी जाएगी।

मेडिकल लैब टेक्निशियन– PCMB से पढ़ने वाले छात्र मेडिकल लैब टेक्निशियन के रूप में अपना कॅरियर बना सकते हैं। इसमें लेबोरेटरी से जुड़ी जांच आदि की पढ़ाई होती है।

सेना से जुड़कर राष्ट्र सेवा
NDA – 12वीं के बाद NDA एक्साम्स देकर आप एक बेहतरीन जीवन का चुनाव कर सकते हैं. इसमें जोश के साथ साथ होश की भी आवश्यकता होती है।

AIR Force – साइंस बैकग्राउंड के बच्चो के लिए air force x ग्रुप की परीक्षा होती हे जो ग्राउंड ड्यूटी टेक्निकल एयरमैन का चुनाव करती है ।

साइंस से 12वीं पास करने के बाद आप सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर सकते हैं। इसके लिए SSC, रेलवे में नौकरी के लिए RRB, बैंक क्लर्क की नौकरी के लिए IBPS और इंश्योरेंस सेक्टर में नौकरी के लिए इंश्यारेंस एग्जाम आदि की तैयारी के विकल्प हैं!!


एकेडेमिक & कैरियर मेंटोर, डायरेक्टर-गुरु द्रोणाचार्य आईआईटी, नीट & एनडीए कोचिंग इंस्टिट्यूट, कैरियर गाइडेंस के लिए कॉल करें या व्हॉट्सपप्प करें. फ़ोन-8650030001
ईमेल-ashish.kr.umrao@gmail.com
फॉलो और सब्सक्राइब ऑन फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम @ashishkrumrao

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *